Sudarshan Today
देश

रुक्मणी का कृष्ण के साथ विवाह क्यों

सुदर्शन टुडे ब्यूरो रिपोर्ट मैनपुरी आचार्य बजरंग प्रसाद तिवारी

आज श्रीमद् भागवत कथा का छठवां दिवस जिला मैनपुरी ग्राम पर्वतपुर हवेली बिठूर धाम से पधारे राष्ट्रीय कथा व्यास आचार्य राम लखन तिवारी जी के मुखारविंद से बताया गया कथा प्रसंग में की जय और विजय नाम के दो द्वारपाल थे जो कि तीसरे जन्म में शिशुपाल और दंत वक्र बनकर आए शिशुपाल रुक्मणी के साथ में विवाह करना चाहता था जोकि रुकमणी जी साक्षात लक्ष्मी की अवतार थी तो लक्ष्मी का विवाह द्वारपाल के साथ कैसे हो जाता रुकमणी जी ने जब भगवान को पत्र लिखा और कहा कि मेरा भाई शिशुपाल के साथ विवाह तय कर आया है रुकमणी जी ने कहा कि मैं उनके साथ विवाह नहीं करूंगी अगर आप लेने नहीं आए तो हम अपने प्राणों का परित्याग कर देंगे तब भगवान श्रीकृष्ण सेनापति दारुक्ष को लेकर कुंदनपुर में गए जहां की रुकमणी जी थी भगवान श्री कृष्ण रुकमणी को रथ में बैठाकर द्वारिकापुरी लाए और पाणिग्रहण संस्कार किया कथा प्रसंग सुनकर भक्त हुए भाव विभोर राष्ट्रीय शिव सेना संगठन के जिला अध्यक्ष आचार्य बजरंग प्रसाद तिवारी आरके सिंह चौहान जी के द्वारा साड़ी वितरण की गई पंडित विष्णु तिवारी हिमांशु कुशवाहा परीक्षित की भूमिका निभा रहे श्री सत्यपाल सिंह श्रीमती राजकुमारी जी एवं समस्त ग्रामवासी एवं क्षेत्रवासियों उपस्थित रहे

Related posts

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ द्वारा होली मिलन समारोह आयोजित

asmitakushwaha

गाजियाबाद के दो ARTO व एक RI सस्पेंड स्कूल की ब्लैक लिस्ट बस को सड़क पर दौड़े आते रहे अब 1 दिन में 19 बसें से सीज़

asmitakushwaha

गरीबों के बीच पहुंचकर मनाई दिवाली, प्यार और अपनेपन की मिसाल दे गाया त्योहार* पुलिस ने मिठाई खिला कर दिया संदेश।

Ravi Sahu

तालाब मे डुबने से दो मासूम छात्रो की दर्दनाक मौत हो गई*

Ravi Sahu

साकेत नगर जैन मंदिर में बाल संस्कार शिविर का हुआ आयोजन

Ravi Sahu

स्कूल खुलने के बाद खुशी जाहिर करते वात्सल्य पब्लिक स्कूल के बच्चे।

asmitakushwaha

Leave a Comment